(NAPS) National Apprenticeship Promotion Scheme : Registration & Status | राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना

NAPS Application Status, NAPS Online Registration, National Apprenticeship Promotion Scheme Apply , राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना , National Apprenticeship Promotion Scheme Online Registration, शिक्षुता भारत ऑर्ग , national apprenticeship promotion scheme in hindi

National Apprenticeship Promotion Scheme :- नमस्कार दोस्तों |आज हम आपको राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे | राष्ट्रीय शिक्षा प्रोत्साहन योजना को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए चलाया जा रहा है | यह प्रशिक्षण कार्यकर्ताओं को प्रदान किया जाता है  जिससे वह किसी विशेष नौकरी करने में कुशल  बन सके  देश के  प्रशिक्षु की क्षमता बढ़ाने के लिए उनका प्रशिक्षण बढ़ाने के लिए भारत सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना को शुरू किया है|

आज हम अपने आर्टिकल के माध्यम से आपको National Apprenticeship Promotion Yojana से संबंधित जानकारी प्रदान करेंगे ,जानकारी जैसे  राष्ट्रीय प्रशिक्षुता प्रोत्साहन योजना क्या है? इसका उद्देश्य, लाभ, सुविधाएँ, पात्रता मानदंड, आवश्यक दस्तावेज़, आवेदन प्रक्रिया, आदि।  दोस्तों यदि आप एनएपीएस राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप  हमारे  आर्टिकल को अंत तक पढ़े|

National Apprenticeship Promotion Scheme

National Apprenticeship Promotion Scheme (NAPS)

देश में प्रशिक्षुता प्रशिक्षण की आवश्यकता की जरूरत को  पूरा करने के लिए भारत सरकार द्वारा National Apprenticeship Promotion Scheme को शुरू किया गया  है। इस योजना के अंतर्गत सरकार  प्रशिक्षुता कार्यक्रम में प्रतिष्ठानों के साथ प्रशिक्षण की लागत साझा करेगी जिसके द्वारा  शिक्षुता प्रशिक्षण को बढ़ावा दिया जाएगा  और  बुनियादी प्रशिक्षण प्रदाताओं के साथ बुनियादी प्रशिक्षण की लागत केंद्र सरकार  के माध्यम से  साझा की जाएगी। यह बुनियादी प्रशिक्षण लागत 500 घंटे / 3 महीने की अवधि के लिए 7500 रुपये तक सीमित होगी।

National Apprenticeship Promotion Scheme के तहत, प्रति शिक्षुता प्रति माह 1500 की अधिकतम सीमा तक निर्धारित स्टाइपेंड का 25% नियोक्ता के साथ सरकार द्वारा साझा किया जाएगा। नए प्रशिक्षुओं को जब  प्रशिक्षण  प्रदान किया जाएगा तो उस समय उन प्रशिक्षुओं वजीफा की सहायता राशि प्रदान नहीं की जाएगी बुनियादी प्रशिक्षण पूरा होने के पश्चात  प्रशिक्षुओं वजीफा की सहायता राशि प्रदान की  जाएगी। 

About Apprenticeship

अप्रेंटिसशिप एक प्रकार का प्रशिक्षण है जो  कौशल को बढ़ाने के लिए जनशक्ति को प्रदान किया जाता है। यह प्रशिक्षण उद्योगों में उपलब्ध सुविधाओं का उपयोग करके उद्योग में प्रदान किया जाएगा। अप्रेंटिसशिप के तहत, बुनियादी प्रशिक्षण और नौकरी पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। भारत सरकार ने शिक्षुता प्रशिक्षण को बढ़ावा देने के लिए अप्रेंटिसशिप अधिनियम, 1961 की शुरुआत की है। कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय इस अधिनियम के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार है। प्रशिक्षुता प्रशिक्षण की सहायता से, प्रतिष्ठानों में उपलब्ध प्रशिक्षण सुविधाओं की मदद से कुशल और कुशल जनशक्ति विकसित होगी। इस कार्यक्रम की मदद से, प्रशिक्षण बुनियादी ढांचे को स्थापित करने के लिए किसी अतिरिक्त बोझ की आवश्यकता नहीं है। वे सभी लोग जो अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण से गुजरते हैं, वे औद्योगिक वातावरण में आसानी से अपना सकते हैं।

Key Highlights Of National Apprenticeship Promotion Scheme

Name of the schemeNational apprenticeship promotion scheme
Launched byGovernment of India
BeneficiaryCitizens of India
ObjectiveTo promote apprenticeship training
Official websiteClick here
Year2021

Categories Of Apprentices

अपरेंटिस को पाँच श्रेणियों में बांटा गया है जो इस प्रकार हैं: –

  • ट्रेड अपरेंटिस
  • ग्रेजुएट अपरेंटिस
  • तकनीशियन अपरेंटिस
  • वोकेशनल अपरेंटिस
  • वैकल्पिक व्यापार अपरेंटिस

Types Of Apprenticeship Training

  • Basic training (बुनियादी प्रशिक्षण) :- बुनियादी प्रशिक्षण एक प्रकार का प्रशिक्षण है जो उन व्यक्तियों को प्रदान किया जाता है जिन्होंने नौकरी प्रशिक्षण लेने से पहले किसी भी प्रकार का प्रशिक्षण नहीं लिया है। राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के तहत 7500 रुपये तक के बुनियादी प्रशिक्षण की लागत सरकार द्वारा साझा की जाती है ताकि प्रशिक्षण को बढ़ावा दिया जा सके।
  • On the job training (जॉब ट्रेनिंग पर) :- जॉब ट्रेनिंग या प्रैक्टिकल ट्रेनिंग एक तरह की ट्रेनिंग होती है, जो प्रतिष्ठानों में दी जाती है। यह आम तौर पर प्रतिष्ठान द्वारा ही प्रदान किया जाता है। नौकरी प्रशिक्षण के तहत आवेदक को व्यावहारिक प्रदर्शन दिया जाता है ताकि वह अपना काम पूरी तरह से कर सके। नौकरी पर प्रशिक्षण के तहत प्रशिक्षण लागत भी सरकार द्वारा एक निश्चित सीमा तक साझा की जाती है ताकि प्रशिक्षण को बढ़ावा दिया जा सके।

Apprentice Act, 1961

अप्रेंटिस  एक्ट  के अंतर्गत नियोक्ताओं को  नामित करने के लिए उन्हें प्रशिक्षण प्रदान करना अनिवार्य है और वैकल्पिक ट्रेडों में  अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण प्रदान करना अनिवार्य है। अप्रेंटिस अधिनियम 1961 को दिसंबर 2014 में संशोधित किया गया था। इस एक्ट के माध्यम से  इसे और अधिक आकर्षक बना दिया है। इस अधिनियम में एक प्रमुख संशोधन व्यापार वार और इकाई वार विनियमों की पुरानी प्रणाली को अद्यतन करना है। इस अधिनियम के तहत 2.5% के बैंड को कुल कार्यबल के 10% तक बढ़ाया जाता है। और इसके साथ ही वैकल्पिक ट्रेनों को भी शुरू किया गया है संशोधन के अंतर्गत उद्योगों को बुनियादी प्रशिक्षण को आउटसोर्स करने की अनुमति को हटा दिया गया हैं।

NAPS पोर्टल के लिए उपलब्ध सेवाएंServices Available For NAPS Portal

  • स्थापना खोज
  • उम्मीदवारों को दाखिला दिया
  • अपरेंटिस खोज
  • अप्रेंटिसशिप की स्थिति
  • BTP खोज
  • ई प्रमाण पत्र सत्यापन
  • प्रमाणित प्रशिक्षु खोज
  • एआईटीटी परिणाम की स्थिति
  • शिकायत
  • प्रशिक्षु प्रशिक्षण के लिए आवेदन करें
  • अद्यतन अपरेंटिस रिक्तियों
  • दावा प्रस्तुत करना
  • अनुबंध की मंजूरी
  • दावा मंजूर

Target Of National Apprenticeship Promotion Scheme

YearTarget
2016-175 lakh
2017-1810 lakh
2018-1915 lakh
2019-2020 lakh

Implementing Agencies Of National Apprenticeship Promotion Scheme

दोस्तों  राष्ट्रीय सार्वजनिक क्षेत्र में मशीनों और उनकी स्थापना के लिए कम से कम  4 और अधिक राज्य क्षेत्रीय प्रशिक्षण निदेशालय प्रशिक्षण के महानिदेशालय प्रशिक्षण के तहत योजना के तहत कार्यान्वयन एजेंसी उपलब्ध होती है  राज्य के सार्वजनिक क्षेत्र और एक निजी प्रतिष्ठान के लिए, राज्य शिक्षुता सलाहकार राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के तहत एजेंसियों को लागू करेंगे। National Apprenticeship Promotion Scheme के सफल कार्यान्वयन के लिए, राज्य सरकार शिक्षुता प्रशिक्षण को बढ़ावा देकर एक सक्रिय भूमिका निभाएगी। राज्य सरकार के माध्यम से राज्य की  शिक्षा परिषद का गठन किया जाएगा  जिसके माध्यम से  शिक्षुता  के लिए  मंच स्थापित हो सकेगा  इस योजना के कार्यान्वयन की   निगरानी के लिए जिम्मेदार होगा।

Fields Of National Apprenticeship Promotion Scheme

  • Designated trade (नामित व्यापार) :- नामित व्यापार वह सभी व्यापारी अब अवस्थाएं हैं जिनको सरकार द्वारा अधिसूचित किया जाता है इस समय  में 259 नामित ट्रेड हैं जो अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण के लिए उपलब्ध हैं। जिससे प्रशिक्षु प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं और इन सभी ओएस की सूची शिक्षुता पोर्टल पर उपलब्ध है आप इस पोर्टल पर विजिट करके आसानी से यह जानकारी प्राप्त कर सकते हैं|
  • Optional trade (वैकल्पिक व्यापार) :- दोस्तों वैकल्पिक व्यापार वे सभी ट्रेड या व्यवसाय हैं जिन को नियुक्त द्वारा सुनिश्चित किया जाता है  इन क्षेत्रों के अंतर्गत  इंजीनियरिंग या गैर इंजीनियरिंग या प्रौद्योगिकी या किसी व्यावसायिक पाठ्यक्रम प्राप्त  कर   सकते हैं।

Duration Of Apprenticeship Training

Routes of apprenticeship trainingDuration of basic trainingDuration of practical training/on the job training
MaximumMinimum and maximum
ITIs pass outsNot requiredMinimum 1 year and maximum 2 years
Trainees who have completed PMKVY/ MES-SDI courses or courses approved by State Governments/ Central GovernmentNot requiredMinimum 1 year and maximum 2 years
Graduates/ diploma holders or persons pursuing graduation/ diploma in any engineering stream or medical or paramedical (Apprentices who are not covered under NATS administered by MHRD)Not requiredMinimum 1 year and maximum 2 years
Graduates/ diploma holders / 10+2 vocational certificate holders or persons pursuing graduation/ diploma in Arts or Commerce or Science streams such as B.A., B.Sc., B.Com., L.L.B etc.Not requiredMaximum 1 year
Dual-learning mode from ITIsNot requiredMinimum 5 months and maximum 9 months
Fresher apprentices3 monthsMinimum 1 year and maximum 2 years

Monitoring Of National Apprenticeship Promotion Scheme

राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के सफल कार्यान्वयन  को  सुनिश्चित करने के  लिए निगरानी की आवश्यकता है। राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के तहत लाभार्थी स्थापना के लगभग 5% से 10% की निगरानी हर साल वास्तविक भौतिक सत्यापन द्वारा की जाएगी।  इन लाभार्थी प्रतिष्ठानों का चयन कंप्यूटर के माध्यम  से किया जाएगा।

Processing Of Claims Under National Apprenticeship Promotion Scheme

Stipend Payment To Employers

प्रशिक्षण  प्राप्त करने वाले प्रशिक्षुओं के बैंक खातों को उनके आधार कार्ड से लिंक होना आवश्यक है जिसके माध्यम से प्रशिक्षुओं को मिलने वाली  वजीफे की धनराशि  पूरी प्रदान की जाएगी  इस कार्यान्वयन के लिए  नियोक्ताओं को  सभी प्रशिक्षुओं के बैंक खाते का विवरण  पता होना आवश्यक है  बैंक विवरण प्राप्त करने के पश्चात  प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षण पूरा होने के बाद  धनराशि  का भुगतान  किया जाएगा  उसके बाद, प्रतिष्ठानों को उपस्थिति विवरण के साथ भुगतान के प्रमाण को अपलोड करना आवश्यक है और भारत सरकार RDAT या SAA द्वारा त्रैमासिक आधार पर सरकार के हिस्से की प्रतिपूर्ति करेगी। संबंधित आरडीएटी / राज्यों को उस सूचना को सत्यापित करने की आवश्यकता होती है जिसे प्रतिष्ठान द्वारा अपलोड किया गया है और सत्यापन के बाद दावों की प्राप्ति से 10 दिनों के भीतर स्थापना के बैंक खाते में सरकार के हिस्से के भुगतान की प्रतिपूर्ति होती है।

Basic Training Cost To Basic Training Providers

दोस्तों  प्रदाताओं की बुनियादी प्रशिक्षण लागत को   RDAT / राज्यों द्वारा उनके बैंक अकाउंट के द्वारा  बुनियादी प्रशिक्षण को  सफल रुप प्रदान करने के और उसका समापन करने के  बाद बनाया जाएगा। इसके तहत ही  प्रत्येक प्रशिक्षु को  उसका बुनियादी प्रशिक्षण पूरा प्राप्त करने पर 5000 रुपये प्रति प्रशिक्षु को प्रदान किया जाएगा शेष 2500 रुपये बुनियादी प्रशिक्षण प्रदाता को प्रदान किए जाएंगे।

राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य  देश के  नियोक्ताओं को  विभिन्न लाभ प्रदान करना है और नियुक्त आओ को लाभ प्रदान  करके पूरे देश में  शिक्षुता प्रशिक्षण  को  अग्रसर करना है  जिसके माध्यम से  बहुत से लोग  यह प्रशिक्षण प्राप्त कर पाएंगे  और देश में लोगों की कार्य क्षमता को भी बढ़ावा मिलेगा  दोस्तों  वर्तमान में प्रशिक्षुओं की   संख्या 2.3 लाख है। सरकार इस संख्या  को 2.3 लाख से बढ़ाकर 50 लाख करना चाहती है। राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के माध्यम से, सरकार नियोक्ता के साथ शिक्षुता लागत साझा करेगी जिससे केवल नियोक्ता पर  सारा वित्तीय बोझ  न पड़े। यह एकीकरण  प्रशिक्षु को  बढ़ावा देता है  और जिसके द्वारा  प्रशिक्षु को  प्रशिक्षुता कार्यक्रमों की सहायता से भारत में कुशल जनशक्ति का निर्माण   किया जाएगा क्योंकि प्रशिक्षुता प्रशिक्षण विभिन्न प्रकार के आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान करके कुशल जनशक्ति विकसित करने के सबसे कुशल तरीकों में से एक है जो प्रतिष्ठानों में उपलब्ध हैं।

National Apprenticeship Promotion Scheme के माध्यम से  प्रशिक्षुओं को  कौशल का अभ्यास करने और काम के माहौल में कॉन्फिडेंस प्राप्त करने का अवसर मिलेगा और उनमें आत्मविश्वास की बढ़ोतरी होगी इसके साथ ही  राष्ट्रीय प्रशिक्षुता प्रोत्साहन योजना भी रोजगार, प्रशिक्षण की गुणवत्ता और अनुभवात्मक शिक्षा को बढ़ाने के लिए प्रदान करेगी जिसके द्वारा अधिक से अधिक लोगों को रोजगार प्राप्त हो सकेगा और उनका कौशल विकास भी किया जा सकेगा|

राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के लाभ और सुविधाएँ

  • राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन एक सरकारी योजना है इस योजना के माध्यम से युवाओं को उनके कार्यात्मक क्षेत्रों में कार्य करने के लिए फ्री ट्रेनिंग प्रदान की जाती है |
  • इस ट्रेनिंग के माध्यम से युवा रोजगार प्राप्त करने के काबिल बनते हैं|
  • National Apprenticeship Promotion Scheme के माध्यम से वह नौकरी प्राप्त करके आत्मनिर्भर बन सकेंगे  |
  • राष्ट्रीय प्रशिक्षुता संवर्धन योजना 2021 के अनुसार निर्धारित वजीफे के 25% की प्रतिपूर्ति जो नियोक्ता के लिए अधिकतम 1500 रुपये प्रतिमाह प्रत्येक प्रशिक्षु  के लिए होगी|
  • राष्ट्रीय  शिक्षुता  संवर्धन योजना के माध्यम से, प्रशिक्षुता संवर्धन योजना शिक्षुता प्रशिक्षण को नियोक्ताओं के साथ प्रशिक्षण की लागत को सम्मिलित करके  सरकार के माध्यम से  इसको  बढ़ावा दिया जाएगा।
  • National Apprenticeship Promotion Scheme के अंतर्गत  सरकारी योजनाएं जैसे  प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, कौशल विकास के नक्शे कदम पर  मॉड्यूलर रोजगार योग्य कौशल और राज्य सरकारों और केंद्र सरकारों द्वारा अनुमोदित अन्य पाठ्यक्रम को सम्मिलित किया जाएगा |
  • इस राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के कार्यान्वयन के लिए, सरकार ने एक ऑनलाइन वेबसाइट को शुरू किया है इस वेबसाइट के माध्यम से  प्रशासन को  मदद मिल सकेगी पोर्टल पर योजनाओं की जानकारी और आवश्यक जानकारी उपलब्ध हो सकेगी जिसका प्रयोग प्रशासन कर सकेगा|
Sukanya Samriddhi Yojana
  • राष्ट्रीय  शिक्षुता  संवर्धन  योजना  के इस पोर्टल के माध्यम से देश के  नियोक्ताओं, बुनियादी प्रशिक्षण प्रदाताओं और प्रशिक्षुओं को ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा प्राप्त  होगी|
  • इस ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से  देश के प्रशिक्षु अपनी  प्रशिक्षु सीटों और रिक्तियों के विवरण की जानकारी प्राप्त कर पाएंगे और  इच्छुक स्थान का चयन करके आवेदन भी कर  सकते हैं|
  • इच्छुक  उम्मीदवारों को प्रस्ताव पत्र का चयन और जारी भी आधिकारिक पोर्टल के माध्यम से किया जा सकता है जिससे उम्मीदवारों को किसी कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं है वह इंटरनेट प्रणाली के द्वारा इस पोर्टल पर आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं|
  • ऑनलाइन पोर्टल पर  अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण की निगरानी भी की जाएगी  जिससे पारदर्शिता बनी रहेगी |
  • सरकारी शुल्क  को इस ऑफिशल वेबसाइट के माध्यम से  ऑनलाइन जमा किया जा सकेगा और दावों का भुगतान भी  इस ऑफिशल वेबसाइट के माध्यम से आसानी से किया जा सकेगा |
  • आधिकारिक पोर्टल के माध्यम से संभावित नियोक्ताओं को आवेदन भेजे जा सकते हैं|
  • National Apprenticeship Promotion Scheme के तहत, सरकार बुनियादी प्रशिक्षण के लिए 7500 रुपये का खर्च करेगी।
  • रुपये की अधिकतम सीमा के लिए नौकरी प्रशिक्षण लागत पर, 1500 प्रति शिक्षु सरकार द्वारा साझा किया जाएगा|
  • नेशनल अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्कीम के तहत दो तरह के अप्रेंटिसशिप प्रशिक्षण होते हैं, वे बेसिक ट्रेनिंग और जॉब ट्रेनिंग
UP Scholarship Status 2021
  • राष्ट्रीय  प्रशिक्षुता प्रोत्साहन योजना केंद्र सरकार द्वारा चलाया जा रहा है और इस योजना को केंद्रीय उपक्रम के लिए प्रशिक्षुता प्रशिक्षण निदेशालय द्वारा इसका कार्यान्वयन किया  जाएगा  इस योजना में  न्यूनतम   चार या अधिकतम  राज्यों में अपने व्यवसाय का संचालन करना होगा। व्यवसाय करने के स्थान  का प्रशिक्षु  खुद चयन कर सकता है|
  • राज्य के सार्वजनिक क्षेत्र और एक निजी प्रतिष्ठान के लिए, इस योजना को राज्य शिक्षुता सलाहकारों द्वारा लागू किया जाएगा|
  • National Apprenticeship Promotion Scheme के अंतर्गत  बोर्ड क्षेत्र निर्धारित किए जाएंगे  जिसमें  एक नामित व्यापार और दूसरा वैकल्पिक व्यापार होगा राष्ट्रीय शिक्षुता प्रोत्साहन कार्यक्रम की मदद से, भारत में कुशल जनशक्ति का निर्माण होगा। और लोग कार्य करने के लिए प्रोत्साहित होंगे|

राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना की पात्रता मानदंडEligibility Criteria Of National Apprenticeship Promotion Scheme

दोस्तों National Apprenticeship Promotion Scheme के अंतर्गत  नियोक्ताओं और  प्रशिक्षुओं के लिए  अलग-अलग  पात्रता मानदंड निर्धारित किए गए हैं यह कुछ इस प्रकार हैं –

For Employers

  • नियोक्ता के लिए TIN / TAN नंबर होना अनिवार्य है|
  • कर्मचारियों को अप्रेंटिसशिप पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा|
  • नियोक्ता के पास आधार लिंक बैंक खाता होना आवश्यक है|
  • नियोक्ता के पास ईपीएफओ / ईएसआईसी / फैक्टरी / सहकारी / एमएसएमई पंजीकरण संख्या होना अनिवार्य है|
  • नियोक्ताओं को प्रतिष्ठान की कुल ताकत का 2.5% से 10% के बैंड में प्रशिक्षुओं को संलग्न करना आवश्यक है|

For Apprentices

  • प्रशिक्षुओं को पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा|
  • सभी अपरेंटिस के पास आधार नंबर होना चाहिए|
  • व्यापार के लिए निर्धारित न्यूनतम आयु, शैक्षणिक योग्यता और शारीरिक योग्यता होनी चाहिए|
  • प्रशिक्षु अधिनियम के सभी आवश्यकताओं को पूरा करना चाहिए।
  • अपरेंटिस ने कम से कम 14 साल की उम्र पूरी की होगी|
  • बुनियादी प्रशिक्षण प्रदाताओं के लिए
  • बीटीपीएस के लिए आधार लिंक बैंक खाता होना आवश्यक है|
  • RDAT द्वारा बुनियादी प्रशिक्षण प्रदाताओं को भौतिक रूप से सत्यापित किया जाना चाहिए|
  • BTPS को पोर्टल पर रजिस्टर करना होगा|

राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार संख्या
  • आधार लिंक बैंक खाता
  • आवास प्रामाण पत्र
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर

Procedure To Apply For Apprenticeship Training

 दोस्तों यदि आप प्रशिक्षु प्रशिक्षण के लिए आवेदन देना चाहते हैं तो आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा यह कुछ इस प्रकार है|

  • दोस्तों आपको सबसे पहले  कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशल वेबसाइट को अपने कंप्यूटर पर ओपन करना होगा|
  • अब ऑफिशल वेबसाइट का होम पेज  प्रदर्शित हो जाएगा|
  • यहां आपको  अप्लाई फॉर अप्रेन्टिसशिप ट्रेनिंग का एक ऑप्शन दिखाई देगा |
  • अब आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे |
  • आपके सामने एक न्यूपेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • यहां आपको अपना निम्नलिखित  विवरणों का चयन करना है |जैसे
    • आपका नाम
    • आपका क्षेत्र
    • राज्य
    • जिला
    • BTP सुविधा उपलब्ध
    • क्षेत्र
    • व्यापार का प्रकार
    • व्यापार
    • उद्योग के प्रकार
    • स्थापना प्रकार
    • स्थापना श्रेणी
    • जहाज पर चढ़ा हुआ
    • प्राकृतिक संसाधनों से निपटने की स्थापना
    • चार या अधिक राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में परिचालन
    • सीट उपलब्ध है
    • एजेंसी कोड
  • जानकारी दर्ज करने के पश्चात आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इसके बाद आपको स्थापना नाम का विवरण  आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्राप्त हो जाएगा|
  •   अब आपको उस स्थापना नाम के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • जिसमें आप  आवेदन करने की इच्छुक है फिर  आप स्थापना विवरण पृष्ठ पर रीडायरेक्ट करेंगे|
  • इसके बाद आपको आवेदन करने के लिए एक लिंक प्राप्त होगा|
  •  फिर आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा |
  • अब आपके सामने एक पंजीकरण फॉर्म ओपन हो जाएगा |
  • इस पंजीकरण फॉर्म में पूछी गई समस्त जानकारी को आपको सही प्रकार से दर्ज करना होगा |
  • जानकारी जैसे  पंजीकरण संख्या, जन्म तिथि, ईमेल आईडी आदि|
  •  यह जानकारी दर्ज करने के पश्चात आपको अप्लाई के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा| 
  • इस प्रक्रिया को फॉलो करते हुए  इच्छुक उम्मीदवार को  अनुरोध करने पर  अप्रेंटिसशिप की स्थापना के लिए अनुमति प्राप्त हो  जाएगी|

Procedure To Do Establishment Search

  • दोस्तों आपको सबसे पहले  कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन करना होगा|
  • फिर आपके सामने होमपेज प्रदर्शित हो जाएगा|
  • यहां होम पेज पर आपको स्थापना टैब दिखाई देगा |
  • फिर आपको इस टैब पर क्लिक करना होगा|
  • अब आपके सामने स्थापना खोज का एक ऑप्शन दिखाई देगा|
  • अब आपको ऐसा ऑप्शन पर क्लिक करना है |
  • फिर आपके सामने न्यूपेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • यहां आपको अपनी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी |
  • जानकारी जैसे आपके  प्रतिष्ठान का नाम, क्षेत्र, राज्य, जिला, क्षेत्र, व्यापार, आदि।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के पश्चात आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और
  • स्थापना से संबंधित विवरण आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा |

Procedure To Do Apprentice Search

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट को अपने कंप्यूटर पर ओपन करना होगा|
  • फिर वेबसाइट का होम पेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • यहां आपको  अपरेंटिस का टैब दिखाई देगा|
  • अब आपको इस टैब पर क्लिक करना है |
  • फिर आपको अप्रेंटिस पर क्लिक करना होगा |
  • इसके बाद आपके सामने न्यूपेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • यहां आपको अपनी पंजीकरण संख्या, स्थापना नाम, राज्य, जिला, उम्मीदवार प्रकार, आदि जैसी सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • इससे जुड़ी जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी |

Check Apprenticeship Status

  • आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की  ऑफिशियल वेबसाइट को अपने कंप्यूटर पर ओपन करना होगा |
  • फिर आपके सामने होमपेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • इस होम पेज पर आपको अप्रेंटिस  टैब दिखाई देगा|
  • अब आपको इस टैब पर क्लिक करना होगा |
  • फिर आपके सामने एक  अपरेंटिसशिप स्टेटस का ऑप्शन दिखाई देगा|
  • फिर आपको  इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • आप आपके सामने न्यू पेज ओपन हो जाएगा |
  • यहां आपको  पंजीकरण नंबर, जन्म तिथि, अभिभावक का नाम और यूआईडी दर्ज करना होगा|
  • और फिर सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इससे संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी |

Do BTP Search

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशल वेबसाइट को अपने कंप्यूटर पर ओपन करना होगा |
  • फिर इस ऑफिशल वेबसाइट पर होम पेज प्रदर्शित होगा |
  • इस होम पेज पर, BTP टैब ऑप्शन का ऑप्शन दिखाई देगा |
  • अब आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इसके पश्चात आपको BTP सर्च पर क्लिक करना होगा|
  • फिर आपके सामने न्यू पेज प्रदर्शित होगा |
  • यहां आपको   अपना बीटीपी नाम, बीटीपी प्रकार, राज्य, जिला, क्षेत्र, व्यापार प्रकार, व्यापार, पंजीकरण प्रकार, आदि की जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • फिर आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और 
  • इससे संबंधित जानकारियां कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी |

E-Certificate Verification

  • ई प्रमाण पत्र सत्यापन के लिए आपको  सबसे पहले   कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन करना होगा| 
  • फिर वेबसाइट का होम पेज कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा |
  • यहां होम पेज पर आपको सत्यापन का  टैब दिखाई देगा |
  • अब आपको इस पर क्लिक करना है |
  • इसके बाद  आपको ई-सर्टिफिकेट वेरिफिकेशन का ऑप्शन दिखाई देगा|
  • अब आपको इस ऑप्शन पर  क्लिक करना होगा|
  • फिर आपके सामने न्यू पेज ओपन हो जाएगा |
  • इस पेज में आपको अपना  ई-एनएसी प्रमाणपत्र नंबर दर्ज करना होगा|
  • और सभी जानकारी दर्ज करने के पश्चात गो के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • इससे संबंधित जानकारियां के कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी |

Apprentice Search

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन करना होगा|
  • फिर आपके सामने होमपेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • इस होम पेज पर आपको सत्यापन का एक टैब दिखाई देगा |
  • अब आपको इस टैब पर क्लिक करना होगा |
  • अब यहां आपको प्रमाणित  अप्रेंटिस खोज के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इसके बाद एक न्यू पेज ओपन हो जाएगा |
  • यहां आपको रीडायरेक्ट करना होगा  |
  • इसके बाद आपको अपना राज्य, अपना स्थापना नाम, प्रशिक्षु का नाम, व्यापार प्रकार, आदि जानकारी को दर्ज करना होगा और submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • इससे संबंधित जानकारी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित  हो जाएगी |

Enroll Candidates

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशल वेबसाइट को ओपन करना होगा
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का होम पेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • आप इस पेज पर आपको स्थापना का टैब दिखाई देगा |
  • अब आपको इस टैब पर क्लिक करना है |
  • इसके बाद आपको  दाखिला लेने वाले उम्मीदवारों के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • अब आपके सामने न्यू पेज ओपन हो जाएगा  |
  • यहां आपको लॉगइन आईडी और अपना पासवर्ड दर्ज करना होगा |
  • इसके पश्चात लॉगिन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा  |
  • फिर आप उम्मीदवार  नामांकन  कर सकते हैं।

पोर्टल पर लॉगिन करें

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशल वेबसाइट को ओपन करना होगा
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का होम पेज प्रदर्शित हो जाएगा |
  • इस होम पेज  आपको लॉगिन का एक ऑप्शन दिखाई देगा |
  • अब आपको एक ऑप्शन पर क्लिक करना है |
  • अब आपके सामने न्यू पेज ओपन हो जाएगा|
  • यहां इस नए पेज पर आपको  रीडायरेक्ट करना होगा और
  • अब लॉगइन फॉर्म में लॉगिन आईडी और पासवर्ड को दर्ज करना होगा|
  • फिर लॉगइन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • इस प्रकार आप इस पोर्टल पर लॉग इन कर पाएंगे |

View AITT Result Status

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशल वेबसाइट को ओपन करना होगा|
  • फिर ऑफिशल वेबसाइट का होम पेज प्रदर्शित हो जाएगा|
  • अब इस होम पेज पर आपको एआई टीटी रिजल्ट स्टेटस का एक टैब दिखाई देगा|
  • फिर आपको इस टैब पर क्लिक करना होगा |
  • इसके पश्चात आपको रिजल्ट स्टेटस के लिंक पर क्लिक करना होगा|
  • फिर आपके सामने एक न्यू प्रश्न प्रदर्शित होगा |
  • यहां आपको  पुनः निर्देशित किया जाएगा |
  • अब आपको अपना पंजीकरण  नंबर, सत्र और जन्म तिथि दर्ज करनी होगी|
  • फिर आपको सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और
  • संबंधित जानकारी अभी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगी |

Apprenticeship Grievance Registration

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन करना है
  • फिर आपके सामने मुख्यपृष्ठ प्रदर्शित हो जाएगा |
  • यहां  होम पेज पर आपको शिकायत का एक टैब दिखाई देगा |
  • अब आपको इस टैब पर क्लिक करना है|
  • इसके बाद आपको  अप्रेंटिसशिप  शिकायत  पंजीकरण (110 AITT) का ऑप्शन दिखाई देगा|
  • फिर आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • इसके पश्चात एक न्यू पेज ओपन हो जाएगा |
  • इस पेज पर आपको अपना पंजीकरण नंबर और अपनी जन्मतिथि को दर्ज करना होगा |
  • इसके बाद आपको ऑथेंटिकेट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • फिर आपके सामने शिकायत का फॉर्म ओपन हो जाएगा |
  • अब शिकायत फॉर्म में सभी आवश्यक विवरण को दर्ज करना होगा और
  • Submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • इसके बाद आप  शिकायत दर्ज कर सकते हैं|

अपरेंटिस शिकायत  देखेंView Apprentice Grievance

  • दोस्तों आपको सबसे पहले कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की ऑफिशल वेबसाइट को ओपन करना है|
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का होम पेज प्रदर्शित हो जाएगा|
  • यहां होम पेज पर आपको शिकायत कर टैब दिखाई देगा|
  • अब आपको टैब पर क्लिक करना है|
  • आपको इसके पश्चात व्यू अपरेंटिस ग्रीवेंस के ऑप्शन पर क्लिक करना है|
  • आपको अपनी पंजीकरण संख्या और अपनी जन्मतिथि को इसमें दर्ज करना है |
  • इसके बाद  आपको ऑथेंटिकेट के ऑप्शन पर क्लिक करना है|
  • इसके पश्चात आप  apprentice की शिकायत देखने में सफल होंगे |

Conclusion

दोस्तों आज हमने अपने आर्टिकल के माध्यम से (NAPS) National Apprenticeship Promotion Scheme संबंधित जानकारी प्रदान की| यदि आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप हमारी वेबसाइट पर विजिट करते रहिए| हम निरंतर आपको महत्वपूर्ण जानकारियों से परिचित कराते रहेंगे हमारा आर्टिकल अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद |

Leave a comment